Call Us : (+91) 0755 4096900-06 - Mail : bloggerspark@scratchmysoul.com

CAVEAT

We caution all bloggers to refrain from writing blogs which are injurious to the reputation of individual, companies or organization. Though the freedom of expression is a fundamental right, however as we all know,it comes with certain limitations. We request bloggers to take note of the Indian IT act, the law of legislature privileges, the law of contempt of court and all other such laws.

Editor's Pick

सरकारी विज्ञापनों में न छपें नेताओं के फोटो

अपनी छवि को लेकर नारदजी की नारायण से अंतरक्रिया सुखद नहीं थी। यही हाल नेताओं का है क्योंकि न्यायपालिका से एक ऐसे ही प्रसंग में उनका अनुभव भी सुखद नहीं

read more

Palmyra under threat

The photographs alongside are of Palmyra, an ancient Semitic city of Syria with some fantastic remains of its Greco-Roman period. An oasis that once u

read more

मोदी सरकार का एक वर्ष- विघटनकारी एजेण्डा

मोदी सरकार का एक वर्ष; विघटनकारी एजेण्डा; -राम पुनियानी; इस साल मई में मोदी सरकार अपना एक साल पूरा कर लेगी। गुजरा साल, मुख्यतः, समाज में अलगाव औ

read more

She rejected a drunk bridegroom

“Alcoholism does more havoc than three historical scourge together; famine, plague and war”
-William Gladstone
It is the

read more

Optimistic Hue

Even the silence has a music, ; The modernity a rustic ; Newness in the vintage; A ray of hope in melancholy ; A smile disguised in tear; St

read more

ख्वाहिशों की महफ़िल और मैं !

'ख्वाहिशों ' की सुनहरी महफ़िल , ; से घिरी हुई हूँ मैं .....; बड़ी ही सुहानी दुनिया में, ; मदहोश,उड़ चली हूँ मैं !; सबसे प्यारी दोस्त--संगिनी,

read more

Laughter Goes Skin Deep

About three years ago, we had gone to make a small presentation on Laughter Yoga at Viscus Infotech – an IT company based in Indore. The CEO of the co

read more

WHY INDIA PUSSYFOOTING ON INCLUSION OF AUSTRALIA AND JAPAN ALSO IN THE MALABAR NAVAL EXS


The Indo-American Malabar Naval Exercise is quite an eye sore for china. In 2007 when Japan and Australia also joined this Ex along with America,

read more

Tushar Gandhi on 'Make in India' and 'Swachh Bharat Abhiyan'

Addressing a gathering on May 8 in Jaipur during his interactive talk "Modern India: Bapu's Dream Come True" in memory of Gandhian Babu Brijpal Das, t

read more

पिक्चर अभी बाकि है मेरे दोस्त!


ऐसी कहानी मेरे सामने पहली बार आयी थी, बिल्कुल अद्भुत। एक परफेक्ट उदाहरण मुश्किलों से अपने आपको उबारने का। बात है सिंगापुर की क्रिस्टल की जिसकी दुन

read more

Mother

I am breaking the rule and tendering my apologies for the same. The work I am now posting is not created by me but is created by my daughter Aparna Ga

read more

वह कहती है

वह कहती है; वह कहती है; मैं खुली किताब हूँ उसके लिए; चेहरा देखकर वह; मेरी भावनाएं, मेरी ख़ुशी, मेरी पीड़ा; सब जान जाती है; उसे मालूम है; म

read more

कुछ खयाल मेरे अपने

कभी सोचते थे के बदलेगा सब कुछ फिर भी वही रहेंगे हम...
आज जब गौर से आइना देखा पता चला वक़्त ने हमें ही बदल डाला
चाहा था कुछ सिलवटे जहाँ में छोड़ ज

read more

Farmers plight must not be politicized. Rahul Gandhi must stop lying

The good news is that farmers are at the centre of national discourse. The sad fact is that this is for a wrong reason. For decades farmers have lived

read more

धंधा साहित्यकार सम्मान का

कल मुझे मेरी "अनुपम साहित्य-सर्जना" के लिए सम्मानित करने की सूचना मिली जिसमें व्यवस्था खर्च के लिए रु.1100 (सम्मान स्थली तक आने जाने की प्रबंध व्यवस्थ

read more

A story

The Dasahara Holidays. I am at my native town with my family on a week long holiday. No work, no deadlines, no management reports.
It is the third

read more

बिना कलम कागज के

वसुधैव कुटुम्बकम् की वैचारिक उद्घोषणा वैदिक भारतीय संस्कृति की ही देन है . वैज्ञानिक अनुसंधानो , विशेष रूप से संचार क्रांति जनसंचार (मीडिया एवं पत्रका

read more

कल हम थे क्या? हैं आज क्या? इस युग का है संदेश क्या ?

; वर्तमान शिक्षा व्यवस्था में मूल्यपरकता की आवश्यकता ; ..............है जरूरी चिन्तन मनन कल के नये परिवेश का।; लेखक; प्रो.सी.बी. श्रीवास्तव

read more

उमड़ घुमड़ मेरे मन की !!!

ज़िंदगी को देखा जिसने करीब से ; उसे रहे न शिकायत कोई नसीब से ; संघर्ष में पाया हर्ष जिसने ; जीत लिखी रब ने मस्तक पे उसके ; खुद के लिए तो जीते

read more

रावण जलता साल में

रावण जलता साल में; रावण जलता साल में, केवल एक ही बार; होता है सीता-हरण, रोज़ाना बाज़ार ; सेवा करके अकड़ना, है ये ऐसी भूल ; नहा के ज्यों शरीर पे,

read more

Movie reviews

Book reviews

Search

Bloggers Blogs

Recent Posts

Find Us On Facebook

Recent Comments

Vodafone
Gitanjali